चाची की रसीली चुत को चाटा जवान भतीजे ने

252

चाचा फौज मे और देश की सेवा कर रहे है इसीलिए चाची की सेवा का जिम्मा जवान भतीजे ने अपने कंधे पे उठाया. फौजी चाचा की घर की पूरी जिम्मेदारी जवान भतीजा पुरे मन से निभाता है चाची की जिस्मानी जरूरतों को भी पूरा करते हुए. फौजी चाचा ज्यादातर बॉडर मे देश की सेवा करते है और भतीजा चाची की चुत की सेवा करता है चुत को चाटके.

आज भी जब रातको चाची की चुत मे जोर की खुजली मची तो चाची ने चाचा को याद ना कर अपने भतीजे को याद की. भतीजे को अपने कमरे मे बुला चाची ने अपनी चुत की खुजली मिटाने को बोली अपने सघे भतीजे को. फिर क्या था चाची नंगी टांग खोल चुत को फैला लेटी थी भतीजा तुरंत चाची की चुत के बिच लेट चाची की चुत मे अपनी जीभ को घुसाने लगा. चाची की चुत के अंदर जीभ डालके चुत को चाटा. फिर चाची की चुत के पत्रों को अपने मुँह मे घुसा चुत को खाने लगा जिससे चाची की चुत की खुजली मिटी.