कार के अंदर ड्राइवर से हिन्दी डर्टी टॉक्स के सात ब्लोवजोब का खेल

584

यह कहाणी है प्रीती और उसके ड्राइवर रवी की। प्रीती का पती प्रीती को संतुष्ट नही कर पाता, इसिलीये प्रीती बाहर सुख धुंडती है। प्रीती की मस्त कमसीन चुत है, और बुब्स तो पुछो ही मत। एक बार प्रीती रवी के साथ कार मे बाहार जाती है। और तभी प्रीती को रवी के साथ सेक्स करणे का सुझता है। वो रवी को पिछे के सीट पर आणे को केहती है। पहले तो रवी डरता है फिर प्रीती के फोर्स करणे पर चला जाता है। रवी के अंदर आते ही प्रीती उसके लंड को पॅन्ट के उपर से सेहलाती है। जिसका रवी विरोध करता है पर मालकीण का हुकूम मानकर वो चूपचाप रहता है। प्रीती उसके लंड को पॅन्ट के बाहर निकालती है और धिरे धिरे उसके लंड को चुसना और चाटना सुरू करती है। इस चीज का रवी काफी आनंद लेता है और प्रीती की चुत मे उंगली करणा सुरू करता है। और दोनो सेक्स का मझा लेते है।